देवरिया: सीएमओ कार्यालय मेहरबान, जनपद मे बिना डिग्री के चल रहे पचासों अस्पताल- दैनिक बुद्ध का संदेश संवाददाता अमित श्रीवास्तव ब्यूरो चीफ देवरिया

0
6
अमित श्रीवास्तव ब्यूरो चीफ देवरिया
देवरिया : देवरिया जनपद क्षेत्र मे जहा तमाम सीएचसी व पीएचसी है वही आज इन अस्पतालो मे शाम होने के बाद कोई डाक्टर व कर्मचारी रुकना नही चाहता है यही बजह है कि जिले के अंन्दर तमाम फर्जी हास्पीटल धड़ले से चल रहे हैं और कोने कोने से जिले के मरीज प्राइवेट नर्सिंग होमो मे जाने को मजबूर है। वही हमारे जिले के मुख्य चिकित्साधिकारी को इसकी जानकारी होने के बाद भी कोई कार्यवाही करने कि जहमत नही उठाते हैं।
जिस कारण जिले के देवरिया, सलेमपुर, रुद्रपुर, गौरी बाजार, भटनी, बरहज, भाटपाररानी, भागलपुर आदि इन सभी जगहो चट्टी चौराहो पर प्राइवेट नर्सिगं होम बीना डिग्री व फर्जी डिग्री के चल रहे हैं। वही जनपद मे कुछ ऐसे जगह है जहा बाढ़ में भयावह स्थिति हो जाती है लेकिन शासन और प्रशासन की स्थिति में लापरवाही देखने को मिलती है। यहा पर मरीज तो परेशान है। लेकिन कुछ लोगों का बल्ले-बल्ले है। जैसे पैथोलोज़ी और प्राइवेट हॉस्पिटल। यहा पर लगभग 50 हॉस्पिटल छोटे व बड़े हैं। उन हॉस्पिटलो को आज सीज किया जाता है। वही हॉस्पिटल दूसरे दिन उसी समय खुल जाते हैं। खैर कोई बात नही ‘मालिक मेहरबान तो,,,,,पहलवान’ आखिर उनके पास रातो रात डिग्री कहा से मिल जाती है, जबकि सरकारी हॉस्पिटल में प्रतिदिन 600 से 700 मरीज डेली रुद्रपुर में देखे जाते हैं।
वर्तमान जिलाधिकारी अमित किशोर काफी सक्रिय हैं, लेकिन अकेले वह कर क्या सकते हैं। देवरिया में सावित्री नर्सिंग होम, छितोनी में मोहन मैडिकल सीज किया गया, लेकिन वह आज भी चल रहा है। चर्चो को आधार माने तो कई हॉस्पिटल सीएमओ कार्यालय ही चलाता है सीएमओ ऑफ़िस में 20 सालो से बड़े पदों पर तैनात यहीं देवरिया के लोग हैं उनका आज तक ट्रांसफर नही हुआ जबकि नियम क्या है ये शायद जिलाधिकारी महोदय भी जानते हैं और सीएमओ साहब भी। पैथोलोज़ी की बात करे तो किसी के पास डीएमएलटी और एमबीबीएस डॉक्टर नही है फ़िर भी वह धड़ल्ले से चला रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here