पुरुष अंडकोष में दर्द को न करें नजरअंदाज, हो सकते हैं ये 5 रोग-दैनिक बुद्ध का संदेश

0
18

दैनिक बुद्ध का संदेश
पुरुषों के अंडकोष में जब कभी भी दर्द होता है, तो इसे बिल्कुल नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। अंडकोष में दर्द के ज्यादातर मामलों में इसका कारण कोई नई या पुरानी चोट होती है मगर कई बार किसी खतरनाक रोग के कारण भी ऐसा दर्द हो सकता है।

टेस्टिस हमारे शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि ये टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन बनाते हैं। टेस्‍टोस्‍टेरॉन मांसपेशियों और बालों के लिए जरूरी होता है। इसे मेल यानी पुरुष हार्मोन भी कहते हैं। आइये आपको बताते हैं कि टेस्टिस में दर्द के क्या कारण हो सकते हैं, जिनसे आपको सावधान रहने की जरूरत है।

चोट के कारण दर्द
आमतौर पर अंडकोष में होने वाले दर्द का मुख्य कारण कोई नई-पुरानी चोट ही होती है। चोट लगने पर अंडकोष यानी टेस्टिस में सूजन आ जाती है और असहनीय दर्द होता है क्योंकि ये शरीर के सबसे नाजुक और संवेदनशील अंगों में से एक है। कई बार किसी पुरानी चोट के कारण भी अचानक से दर्द शुरू हो जाता है। ऐसा दर्द होने पर या चोट लगने पर आपको सबसे पहले पेशाब करना चाहिए। इससे कई बार दर्द में थोड़ी राहत मिल जाती है और फिर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

हाइड्रोसील
हाइड्रोसील के कारण भी अंडकोषों में दर्द होता है। हाइड्रोसील एक ऐसा रोग है, जिसमें अंडकोषों में पानी भर जाता है और पानी भरने के कारण इनका आकार बढ़ने लगता है। ये एक खतरनाक बीमारी है क्योंकि पानी ज्यादा होने पर कई बार अंडकोष फट जाता है जिससे व्यक्ति की मौत हो जाती है। ऐसी स्थिति होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी है।

हार्निया
छोटी आंत का कुछ भाग जब नीचे की तरफ आ जाता है तो वह अंडकोष में प्रेशर बनाता है जिसकी वजह से भी दर्द हो सकता है। इसे ग्रोइन हर्निया भी कहा जाता है, इसकी वजह से अंडकोष में तेज दर्द और सूजन हो सकता है। ज्यादातर भारी सामन उठाने की वजह से ऐसा हो सकता है। वर्कआउट करते समय सही स्पोर्ट्स सपोर्टर पहनने की सलाह दी जाती है।

वैरिकोसील
यदि व्‍यक्ति के अंडकोष में सूजन हो जाये तो उसके कारण भी दर्द हो सकता है। वैरिकोसील ऐसी स्थिति है जिसमें अंडकोष के अंदर की नसें बड़ी हो जाती हैं जिसके कारण अंडकोष बड़ा हो जाता है और दर्द होता है। टेस्टिस के दर्द को कम करने के लिए आप सपोर्टर का सहारा ले सकते हैं, सपोर्टर का प्रयोग ज्‍यादातर एथलीट करते हैं। सपोर्टर आपके अंडकोष को आरामदायक स्थिति में रखता है जिसके कारण दर्द नहीं होता। सपोर्टर अंडकोष को बढ़ने से भी रोकता है।

डायबिटीज के कारण
पुरुष के अंडकोष में दर्द के अंडकोष से संबंधित बीमारियों के लिए कई अन्‍य बीमारियां भी जिम्‍मेदार हैं। डाययबिटिक नेफ्रोपैथी के कारण अंडकोष की नसें क्षतिग्रस्‍त हो सकती हैं, यह भी दर्द का प्रमुख कारण है। इसके अलावा क्‍लैमीडिया जैसे यौन संचारित रोग भी अंडकोष में दर्द के लिए जिम्‍मेदार होते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here